Posts Tagged ‘books’

We’re a couple of months into 2019, and it’s time to take stock of our progress on the resolutions we set in January. If you’re like most people, you would have decided on a vague ‘read more books’ resolution at the beginning of the year, but not really followed through on it. But take heart, I’m here to show...

डाल्टनगंज की पहाड़ी पर घने जंगलों के बीच एक गांव है, नाम है कामकी. कामकी के उत्तर में एक नदी बहती है, जिसे कोइल कहते हैं. गांव...

फरवरी, 1999 के खुले मौसम में एक दिन भारतीय जनता पार्टी के सांसद योगी आदित्यनाथ अपने हथियारबंद अनुयायियों के साथ उत्तर...

यादगार गुज़रे हुए लम्हों की कसक प्रतियोगिता के विजेता, अविनाश चंचल खांटी बिहारी हैं, हज़ारों नवयुवकों की तरह अविनाश भी रोज़ी...

कैसे लिखें व्यंग्य? पत्रकार,लेखक,व्यंग्यकार, मनु पंवार के साथ हुई इस कार्यशाला में उन्होंने कहा कि लेखन की कोई तकनीक नहीं...

पौराणिक कथा ( कहानी ) प्रतियोगिता: की विजेता कहानी, मुकुंदा का शाप रही, कहानी की लेखिका,मैसूर की रहने वाली प्रत्याशा ...

शनिवार, 15 सितम्बर,को जगरनॉट कार्यालय में हिंदी की पहली वर्कशॉप आयोजित की गई. हिंदी अंग्रेज़ी भाई-भाई,नाम से आयोजित की गई इस...

“ऐतिहासिक कहानी” कथा ( प्रतियोगिता ) के अंतर्गत हमें अनेक रचनाएं प्राप्त हुई, जिसमें सौरभ एस दौलत की सुतानुका कहानी को सबसे...

हमारे आज के लेखक शून्य की कहानियां लिखने की शुरुआत दिल्ली से हुई थी. पिछले 17 सालों से वह मुख्य रूप से इलेक्ट्रॉिनक मीडिया...

When it comes to success, achieving one’s big goals, I believe the underdog has a distinct advantage over their well-heeled counterparts. For what are all the endowments of heaven before the power of an underdog’s burning desire to scale misty heights, leaving his humble origins far down below! Remember how a...