Posts Tagged ‘हिंदी कहानियां’

कॉलेज से लौटा तो मां बरामदे में बिछे तख्तपोश पर सोई हुई थी। वह मुंह पर दुपट्टा लपेटे जब चाहे, जहां चाहे सो जाती है। कई बार...

लावण्या …बहुत ज़ोर देने पर भी उसे याद नहीं आ रहा कि वो इस नाम की किसी लडक़ी को जानती है. न रिश्तेदारी में कोई इस नाम की लडक़ी है...