Posts Tagged ‘दिलीप कुमार’

“हैप्पी हिन्दी डे ” (व्यंग्य ) हे कूल डूड ऑफ़ हिंदी ,टुडे इज द बर्थडे ऑफ़ हिंदी ,ईट्स आवर मदर टँग एन प्राइड आलसो ,सो लेटस सेलेब्रेट...

वर्चस्व की लड़ाइयां कभी-कभी बदलावों का संवाहक हुआ करती थीं। हालॉकि गॉव के हर नाके पर तनाव था, मगर चुहल भी थी, और कयासें तो...

जब से लल्लू तिवारी का नाती पुत्ती ननिहाल आया है, तब से रामरती की जान सांसत में पड़ गयी है। बमुश्किल सात आठ साल के पुत्ती ने...

बेशक घटना होनी और अनहोनी के बीच बहस में टंगी थी, मगर दिलचस्प ज़रूर थी. भला किसी की मौत भी दिलचस्प हो सकती है? किसी की मौत...