By

दिल से-कहानी में ट्विस्ट के विजेता गौरव यादव  ने तकरीबन 5 सालों तक एक शोधकर्ता के तौर पर कार्य करने के बाद हाल ही में बायोटेक्नोलॉजी में पीएचडी की डिग्री पूरी की है. गौरव को  हिंदी कविता, कहानी और मुख्य तौर पर हिंदी शायरी लिखने का शौक है जिन्हें वो
नियमित रूप से अपने सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर प्रकाशित करते रहते हैं.

पढ़िए गौरव से हुई हमारी बातचीत_

गौरव आपकी कहानी अहम् या प्यार को विजेता कहानी के तौर पर चुना गया है, कहानी के बारे में विस्तार से बताएं.
सबसे पहले तो मैं जगरनॉट की टीम का शुक्रिया अदा करना चाहूंगा कि उन्होंने मेरी कहानी को विजेता कहानी के
तौर पर जगह दी.
कहानी अहम् या प्यार शिव और वानी की कॉलेज के दिनों में शुरू हुई एक प्रेम कहानी है. जहा एक तरफ शिव लेखक
बनना चाहता है वहीं वानी किसी बड़े बिजनेसमैन के साथ अपनी ज़िन्दगी बिताना चाहती है. शिव, वानी से बिछड़
जाता है ताकि वो अपने लेखन के सपने को पूरा कर सके और वानी, शिव से दूर हो जाती है ताकि वो एक आरामदायक
ज़िन्दगी बिता सके. कई सालों बाद वो एक बार फिर टकराते है और इस बार उनके मिलने की वजह कोई ऐसा होता है
जो शिव की ही तरह लेखक बनना चाहता है.

इतने अलग विषय को चुनने के पीछे क्या कारण था?
लोगों को ऐसा लगता है कि लेखन खाली समय में किया जाने वाला काम है इसे मुख्य काम के तौर पर अपनाया नहीं
जा सकता. आपके अच्छे से अच्छे लेख या कहानी की तुलना एक नौकरी से नहीं की जा सकती और खासकर जब एक
शिक्षित युवा लेखन को पेशे के तौर पर अपनाने का निर्णय करता है तो लोगों  को और भी आश्चर्य होता है. ऐसा ही
एक विचार इस कहानी के पीछे की वजह रहा.

हिंदी में आपकी सबसे पसंदीदा कहानी या उपन्यास कौन सा है और क्यों?
हिंदी में कई किताबें पढ़ी है मगर बहुत ज़्यादा ख़ास तो कोई किताब नहीं रही. धर्मवीर भारती जी की गुनाहों का देवता
मुझे पसंद आई थी.

आपकी आने वाली कहानियां कौन कौन सी हैं और किन विषयों पर हैं?
कुछ कहानियां मैं लिख रहा हूँ लेकिन किसी के लिए कोई नाम अब तक सोच कर नहीं रखा है. एक बार कहानी पूरी हो
जाने के बाद मैं उसे शुरू से पढ़ता हूँ और फिर जो भी नाम उचित लगता है वही उसे दे दिया जाता है. मेरी कहानियों का
विषय हमेशा ही रोमांस होता है फिलहाल इसके सिवाए न तो मैंने कुछ लिखा है न ही लिखने का सोचा है तो आगे आने
वाली कहानियों का विषय भी प्यार और रोमांस ही रहने वाला है.

जगरनॉट का राइटिंग प्लेटफार्म आपके लिए कितना लाभकारी रहा?
जब आप कुछ लिखते हैं और उस पर लोगों की प्रतिक्रिया मिलती है तो आपको उससे और भी ज़्यादा लिखने की प्रेरणा
मिलती है ख़ासकर जब अनजान लोग आपकी लिखी चीज़ पर सकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त करते है तो आपको
प्रेरणा तो मिलती ही है बल्कि आपको ये बात भी समझ आ जाती है की लेखन ठीक ठाक जा रहा है. अब तक मैंने
कहानियों को सिर्फ अपने ब्लॉग पर या फेसबुक पर प्रकाशित किया जिससे मुझे कहानी के लिए लोगों  के विचार
प्राप्त हुए. जगरनॉट प्लेटफार्म मेरे लिए नया है मगर मुझे उम्मीद है की इससे मुझे नए पाठकों से जुड़ने का मौक़ा
मिलेगा साथ ही उनसे मिलने वाली प्रतिक्रिया मेरे लेखन को सुधारने में मददगार साबित होगी.

गौरव यादव के लिखी किताब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

One Comment

  1. Pingback: when too much ado – GODIS

Leave a Reply