By

लेखन मंच की लेखिका राशि रॉय  अपने लिखे हुए  शब्दों से समाज और विश्वभर में सकारात्मकता फैलाना चाहती हैं.राशि लघु कहानियां एवं कविताओं के माध्यम से अपनी भावनाओं को व्यक्त करती हैं. वो दिल से एक संगीतकार हैं और ख़ुद का यूट्यूब चैनल भी चलती हैं, रॉय लेखन और संगीत से फुरसत निकाल कर शिल्पकला में अपना समय व्यतीत करती हैं.

राशि रॉय आपकी कहानी  “वो रात ” को लेखन मंच पर पाठकों के द्वारा काफी सरहना मिली हैं, हमारे पाठकों को कहानी के बारे में थोड़ा विस्तार से बताएं.

मेरी कहानी वो रात  को पाठको ने पसंद किया है उसके लिए मैं शुक्रगुज़ार हूँ, सभी का बहुत धन्यवाद!ये कहानी है उस पहले प्यार की, जो अधूरा रह जाता है हर रोज़ हमें कई किस्से सुनने को मिलते है जहाँ जबरदस्ती, समाज के डर से, किसी और से शादी करवा दी जाती है पर क्या ऐसे रिश्ते से कोई ख़ुशी मिलती है? क्या वो सामान्य जीवन जी पाते है? प्यार कितना गहरा होता है और उसे ना पाने की वजह से कैसे किसी की मानसिक स्थिति पे उसका असर होता है? ये दर्शाया है मैंने अपनी इस कहानी में.

जैसाकि आपकी कहानी से पता चलता हैं कि हमारा समाज आज भी प्रेम विवाह को ग़लत मानता हैं? इस पर आपका क्या कहना है ?

बहुत दुख होता है ये कहते हुए की ये बात आज भी बिलकुल सत्य है विवाह को लोग पावन मानते है पर प्रेम विवाह को नहीं जबकि मैं मानती हूँ की विवाह की नींव ही प्यार होना चाहिए अगर पति पत्नी में प्यार ना हो तो एक दूसरे के लिए आदर और सम्मान भी नहीं हो पाता ना ही वो एक दूसरे के परिवार को सम्मान दे पाते हैं, ऐसे में घर में सदा क्लेश और कलह का माहौल बना रहता है, जो परिवार और समाज दोनों के लिए हानिकारक है.

समाज के डर से बेवजह काफी ज़िन्दगियाँ नष्ट हुई है आशा करती हूँ कि लोग इस बात को समझे कि इंसान में ही ईश्वर है. किसी के मन को ठेस पहुंचा कर हम ईश्वर को रुष्ट करते है, इंसानियत को महत्व दें और एक दूसरे की जीवन की क़दर करें. अच्छा लगता है जब माता पिता पहले अपने बच्चो की खुशियों के बारे में सोचते हैं, समाज की नहीं और उन्हें अपनी ज़िन्दगी अपनी मर्ज़ी से व्यतीत करने देते हैं.

आपकी आने वाली कहानियां कौन कौन सी है और किन विषयों पर आधारित हैं ?

मैंने दो पुस्तकें लिखी है, ‘द कलर लव’ (अंग्रेजी भाषा में लघु कहानियो का संग्रह) और ‘मनसा’ (हिंदी कविताओं का संग्रह) .आगे भी मैं कहानियों, कविताओं और लेखनों के ज़रिये, मेरे विचार एवं भावनाओ को व्यक्त करना चाहूंगी. समाज में आज भी बहुत कुरीतियां मौजूद है, जिसको लेकर लोगो के मन में डर है. मेरी एक ही कोशिश रहेगी की मैं मेरी कहानियों से जागरूकता फैला सकूँ और समाज से इस डर को दूर कर सकूँ. मेरी सकारात्मक सोच से अगर मैं समाज के कुछ लोगो की सोच बदल सकूँ तो वह मेरी सफलता होगी| ये शायद आसान नहीं होगा पर जिस तरह मुझे मेरे पाठकों का साथ एवं प्रशंसा मिल रही है, ये उतना मुश्किल भी नहीं लगता!

जगरनॉट के लेखन मंच से जुड़ने की बाद आपका क्या अनुभव रहा ?

जगरनॉट का लेखन मंच  बहुत ही प्रतिष्ठित है और इसपे लिखना उतना ही सरल है बड़े और कामयाब लेखकों के साथ आपकी भी कहानियां प्रस्तुत की जाती है जो बेहद प्रोत्साहनिय है,जगरनॉट में पाठकों की संख्या विशाल है इसलिए आपका लेखन अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच पाता है. इस मंच की संपादन टीम भी बहुत सक्रिय है और आपके लेखन को पाठकों तक पहुंचाने में मदद करती है. नए प्रतियोगिताओं के माध्यम से नए उभरते लेखकों को प्रोत्साहित करते हैं. इस मंच से जुड़ के मैं बहुत ही आनंदित हूँ, मुझे एक ऐसा माध्यम मिल गया जहाँ से मैं अपनी विचार धाराएं अपने पाठको तक निश्चित रूप से पहुंचा सकती हूँ.

आपकी पसंदीदा लेखिकाएं कौन-कौन हैं और क्यों ?

लेखिकाओं में मुझे महाश्वेता देवी, सुधा मूर्ति, चित्रा बनर्जी देवकरुणि,जेन आस्टिन , अगाथा क्रिस्टी बहुत पसंद हैं, ख़ास करके उनकी लेखन शैली.सरल शब्दों में बहुत आसानी से अपना भाव व्यक्त करती हैं ये सभी उम्दा लेखिकाएं हैं क्यूंकि मैं कविता भी लिखती हूँ, मुझे कवियित्री सुभद्रा कुमारी चौहान और महादेवी वर्मा की लिखी हुई कवितायेँ भी काफी पसंद हैं.

हिंदी में नए लिखने वालों के लिए आप क्या भविष्य देखती हैं?

मैंने हिंदी, बांग्ला और अंग्रेजी भाषा में लिखा है और मुझे कभी पाठकों की कमी महसूस नहीं हुई. हर एक भाषा की अपनी अलग गरिमा होती है. हिंदी, बांग्ला, एवं अन्य मातृभाषा में पढ़ने से पाठक आसानी से लेखक के साथ जुड़ जाते है. आप क्या लिख रहे हैं इस बात को महत्व दें. हिंदी एक बहुत ही खूबसूरत भाषा है और इसी भाषा में लिख कर बहुत सारे लेखक कामयाब हुए हैं. हिंदी पढ़नेवालो की कमी नहीं है इसलिए हिंदी साहित्य का बहुत ही उज्जवल भविष्य है. अगर आप अपने भावनाओं और विचारों को सरलता से व्यक्त कर पा रहे है, तो भाषा की चिंता ना करें , बस लिखते जाएं.

राशि रॉय की ” वो रात ” पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें.

 

 

Leave a Reply